उपासना-उर्वशी ने बढ़ाया छत्तीसगढ़ का मान… हिन्दी फिल्म नर का सुर के लिए देशभर की 12 महिलाओं में हुई शामिल…

CGFilm – छत्तीसगढ़ी फिल्मी की मशहूर अदाकारा उपासना वैष्णव और उर्वशी साहू ने एक बार फिर छत्तीसगढ़ का मान बढ़ाया है। नारी सशक्तिकरण पर बन रही हिन्दी फिल्म नर का सुर के लिए ये दोनों इन दिनों मथुरा वृंदावन के दौरे पर हैं। वहां ही फिल्म की शूटिंग चल रही है। बताया जा रहा है कि फिल्म नर का सुर 12 महिलाओं की कहानी पर आधारित है। महिलाओं के सशक्तिकरण पर बन रही इस फिल्म में ये महिलाएं ही हीरो हैं। फिल्म नर का सुर के लिए मुम्बई, कोलकाता, राजस्थान, नोएडा सहित देशभर के अन्य स्थानों से कलाकार हैं। इसमें छत्तीसगढ़ की इन दोनों कलाकारों का शामिल होना पूरे प्रदेश के लिए गर्व की बात है। आपको बता दें कि इस फिल्म हिंदी सीरियल के बड़े-बड़े दिग्गज कलाकार जैसे जिसमे ललित परिमु आदि भी नजर आएंगे। इस फिल्म के राइटर डायरेक्टर कुलदीप कौशिक जी हैं।

जैसा कि आप सब जानते ही हैं छत्तीसगढ़ी फिल्मी की मशहूर अदाकारा उपासना वैष्णव और उर्वशी साहू छत्तीसगढ़ी फिल्मों की जानी-मानी चरित्र अभिनेत्रियां हैं। छत्तीसगढ़ की प्राय: ज्यादातार फिल्मों में ये अपने अभिनय से दर्शकों के बीच एक अलग ही पहचान बनाती आ रही हैं।

उर्वशी साहू ने समधीन पटगे, जोरन, टिकावन, बैरी साजन, छत्तीसगढिय़ा सबले बढिय़ा, मोर डऊकी के बिहाव, मया-2, रायपुर वाले भाटो, मोर मन के मीत जैसे कई फिल्मों, नाटक और एलबम में काम किया है। इसके साथ ही वे छत्तीसगढ़ी लोक गीत, नृत्य से सुसज्जित चर्चित संस्था मया के संदेश, रायपुर नाका दुर्ग की विगत 15 वर्षों से संचालन भी कर रही हैं। उनकी टीम में 40 कलाकार हैं। पिछले साल ही आई उर्वशी साहू की कॉमेडी धमाल ओचकू बोचकू रिटर्न को दर्शकों का जबरदस्त रिस्पांस मिला। 20 दिन में ही इसे 10 लाख से ज्यादा लोगों ने देखा और पसंद किया था। कॉमेडियन हेमलाल और संतोष निषाद के साथ खुद उर्वशी साहू ने इसमें अभिनय किया है। अभिनेत्री उर्वशी साहू कचरा बोदरा की कामेडी से हटकर एक नई फिल्म चीख लेकर आई हैं। उर्वशी साहू की यह फिल्म उनके ही यूट्यूब चैनल उर्वशी साहू इण्टटेन्मेंट चैनल पर 29 सितम्बर सुबह 7 बजे रिलीज हुई। फिल्म की शूटिंग दुर्ग और राजनांदगांव में हुई है। इस फिल्म की कहानी उर्वशी साहू ने खुद लिखी है और डायरेक्शन भी खुद किया है। उर्वशी का यह ड्रीम प्रोजेक्ट है।

वहीं उपासना वैष्णव की भी छत्तीसगढ़ी सिनेमा में अपनी एक अलग ही पहचान है। उपासना ने रंगोबती, हमारा फैमिली नंबर वन, दीवाना छत्तीसगढिय़ा, तीजा के लुगरा, प्रेम के बंधना, ऑटो वाला भाटो, मयारू गंगा, हंस झन पगली, लैला टिपटॉप छैला अंगूठा छाप, मया जैसी कई फिल्मों में काम किया है।