6 दिसंबर को आ रही एक शार्ट मूवी ‘मेरी मां…’ देखना ना भूलें

CGFilm – 6 दिसंबर को एक और शार्ट मूवी मेरी मां…रिलीज होगी। इस मूवी की स्टोरी मानेश सिन्हा की है। एंटर और राइटर भी मानेश सिन्हा ही हैं। प्रोड्यूसर सेमेश सिन्हा हैं। इस मूवी में आपको कमला देवी, मानेश सिन्हा, अमनजीत महंत, लवेश लहरे दिखाई देंगे। फिल्म के गीत लिखे हैं राजन कर ने। तो देखना ना भूलें ये मूवी 6 दिसंबर को…

चुनौतियों से भरे किरदार में संदीप पाटिल अभिनीत मध्यान्तर
अभिनेता संदीप पाटिल अभी अदाकारी से हमेशा लुभाते रहे हैं। उन्होंने बहुत सी फिल्मों में काम करने के साथ ही लॉकडाउन के समय का उपयोग शॉर्ट फिल्म बनाने में किया। उनकी शार्ट फिल्में भी काफी आकर्षक रही हैं। फिलहाल संदीप पाटिल एक नया नाटक मध्यान्तर लेकर आए हैं। उनका ये नाटक सिर्फ 10 दिनों के रिहर्सल के बाद ही मंच पर प्रस्तुत किया गया। इस नाटक की निर्देशक विभा श्रीवास्तव और लेखक जयवर्धन हैं।

संदीप पाटिल बताते हैं कि उन्होंने इस नाटक में ज्ञान की भूमिका अदा की है। जो नाटक के अंदर एक थियेटर निर्देशक की भूमिका करता है और एक दुर्घटना में अपने पैर गंवा देता है। उनकी पत्नी छाया, जिसका किरदार निधि दीवान ने निभाया है, जिस पर घर संभालने की जिम्मेदारी आ जाती है। ज्ञान का दोस्त जयंत छाया को नौकरी दिलवाता है। जयंत की भूमिका प्रतीक उपाध्याय ने निभाई है। ज्ञान दुर्घटना के बाद बाप बनने का सुख खो देता है और ये बात पत्नी से छुपाता है, लेकिन जब वो ये बात अपनी पत्नी छाया को बताता है तो उससे बात करना बंद कर देती है। ज्ञान को लगता है कि छाया और जयंत के बीच कुछ चल रहा है। छाया की खुशी के लिए वो जयंत से शदी के लिए बात करता है कि वो छाया से शादी कर ले। लेकिन जयंत साफ इंकार कर देता कि वो कभी ऐसा नहीं सोचा करता है। ये गलत है। फिर यही बात ज्ञान छाया को कहता है, वो भी साफ इंकार कर देती है और ज्ञान को खरी-खरी सुना देती है।

अंत में छाया कहती है कि मैं तुम्हारे साथ, तुम्हारे पास हूं। जो बच्चे एक्टिंग सीखने आते हैं, वो भी तो हमारे ही बच्चे हैं। विरासत को आगे बढ़ाते हैं और ये बच्चे तुम्हारी कला की विरासत को आगे बढ़ाएंगे। ज्ञान मान जाता है कि इस तरह से खूबसूरत नाटक और ज्ञान छाया के जीवन का मध्यान्तर होता है।

संदीप बताते हैं कि दो पैरों के बिना एक्टिंग करना बड़ा कठिन काम था। पूरे समय वो व्हील चेयर पर ही रिहर्सल करते थे। ये किरदार काफी चैलेंजिंग था उनके लिए।

फिर धमाका करने को तैयार… ‘हंस झन पगली…’ प्रभात, रायपुर में 25 दिसंबर को होगी प्रदर्शित…

CGFilm – छत्तीसगढ़ी फिल्मों के नामचीन निर्माता और निर्देशक सतीश जैन की फिल्म हंस झन पगली एक बार फिर धमाका करने को तैयार है। बताया जा रहा है कि ये फिल्म 25 दिसंबर 2020 को आपके नजदीकी सिनेमाघरों में जल्द ही प्रदर्शित होगी। फिलहाल ये फिल्म किन शहरों और सिनेमाघरों में रिलीज होगी, इसके बारे में जानकारी नहीं है। लेकिन इसके प्रदर्शन किया जाएगा। आपको बता दें कि पिछले साल 14 जून 2019 को ये फिल्म राजधानी के श्याम टॉकीज सहित छत्तीसगढ़ के कई सिनेमाघरों में प्रदर्शित हुई थी। हंस झन पगली ने अकेले राजधानी रायपुर में ही 95 दिनों तक सिनेमा हाल में लगातार चलती रही, वहीं छत्तीसगढ़ के कुछेक जिलों में इसने 100 दिन का रिकॉर्ड भी बनाया था।

हंस झन पगली एक ऐसी फिल्म बन गई थी, जिसकी वजह से टॉकीज के बाहर हर शो में ट्रैफिक जाम होता रहा है और हर शो हाउसफुल चला है। इससे पहले भी कहा जा रहा था कि छत्तीसगढ़ में एक बार फिर थियेटर खुलते ही दर्शक अपनी पसंदीदा फिल्म हंस झन पगली फंस जबे को देख सकेंगे। ये फिल्म कौन-कौन सी टॉकीजों में लगेगी फिलहाल इसकी घोषणा नहीं हो पाई है, लेकिन इस फिल्म के एक बार फिर प्रदर्शन को लेकर चर्चाएं जोरों पर हैं। हंस झन पगली फंस जबे फिल्म सबरी फिल्म प्रोडक्शन के बैनर तले बनी है। इसने कई रिकॉर्ड बनाए हैं। इसमें सुपर स्टार मन कुरैशी, अनिकृति चौहान, क्रांति दीक्षित, विक्रम राज, स्व. आशीष सेंदेरे, उपासना वैष्णव, पुष्पेंद्र सिंग, रवि साहू, हेमलाल कौशल, अजय सहाय, ललित उपाध्याय जैसे कई बड़े दिग्गज कलाकार हैं। इसके निर्माता छोटेलाल साहू और निर्देशक सतीश जैन हैं।

हंस झन पगली के एक साल पूरे होने पर Cgfilm.in ने निर्देशक सतीश जैन से जून 2020 में लंबी चर्चा की थी। तब सतीश जैन ने कहा था- फिल्म को 14 जून को एक साल पूरे हो गए हैं। फिल्म को लेकर छत्तीसगढ़ के दर्शकों और कलाकारों की बहुत सारी बधाईयां आई हैं। फिल्म के एक साल पूरी होने की खुशी है, लेकिन कोरोना को लेकर दुख भी है। क्योंकि छत्तीसगढ़ में टॉकीजें बंद हो गई हैं, इसके चलते बहुत सारी बड़ी-बड़ी फिल्में रिलीज नहीं हो पा रही हैं। बहुत सारी फिल्मों की शूटिंग आधी में ही अटकी हुई है। इसके साथ ही छत्तीसगढ़ के निर्माता और निर्देशक भी संशय में है कि क्या होगा, कैसे होगा, कब लॉकडाउन खुलेगा और कब शूटिंग शुरू होगी? फिलहाल तो सब यही सोच रहे हैं, कब छत्तीसगढ़ में स्थितियां सामान्य हो।

छत्तीसगढ़ी गाना ‘ऐ मोर जान…’ 29 नवंबर को होगा रिलीज…

CGFilm – ग्रीन म्युजिक छत्तीसगढ़ी की प्रस्तुति ऐ मोर जान… गाना 29 नवंबर रविवार को रिलीज होगा। इस गाने का गायक आर.के. सिदार हैं। वहीं परदे पर आपको आर.के. सिदार और निधि खुराना की जोड़ी नजर आएगी। इसके प्रोड्यूसर टेकराम राम राठिया, डायरेक्टर युवराज साहू, म्युजिक डायरेक्टर सूरज महानंद, गीत टेकराम राठिया के हैं। तो तैयार रहिए ऐ मोर जान… के लिए…

कर ले प्यार जल्द ही…
छत्तीसगढ़ी फिल्मों के जाने-माने निर्माता लखी सुंदरानी आपके लिए एक और वीडियो सांग कर ले प्यार जल्द ही लेकर आने वाले हैं। इस वीडियो सांग के डायरेक्टर मोहन चौहान, स्वर पूनम बेहरा और देवलाल बरिहा, गीत सुबेसिंग चौहान और परदे पर आपको नजर आएंगे सुरेन्द्र चौहान और प्रतिभा चौहान। तो जरूर देखिए कर ले प्यार वीडियो सांग को…

रंग
जल्द ही छत्तीसगढ़ के दर्शकों को एक और वीडियो सांग रंग देखने को मिलेगा। दिशार्थ फिल्म प्रोडक्शन हाउस के बैनरतले बनने वाले इस वीडियो सांग के डायरेक्टर रतन कुमार हैं। कामना फिल्म्स ने इन्हें प्रोजेक्ट किया है। इस वीडियो सांग में आपको मुकेश कुमार और ईशिका यादव की जोड़ी नजर आएगी। इस गाने को अपनी आवाज से संवारा है रोशन वैष्णव और श्रद्धा मंडल ने और संगीत से सजाया है रोशन वैष्णव ने।

डॉ. रुना शर्मा को सोशल एक्टिविस्ट और फैशन के क्षेत्र में दादा साहब फाल्के आईकॉन अवार्ड से सम्मानित किया गया

CGFilm – मुंबई मैं आयोजित इन अवॉर्ड फंक्शन के दौरान भारत के चुनिंदा लोगों में शामिल डॉ. रुना शर्मा को दादा साहब फाल्के आइकन अवार्ड से सम्मानित किया गया, मिसेस इंडिया इंटरनेशनल अवॉडी डॉ. रूना शर्मा कॉस्मेटोलॉजिस्ट एक्ट्रेस ऑफ सोशल एक्टिविस्ट के लिए जानी जाती है। दादा साहब फाल्के के आइकॉन फिल्म ( डी.पी.आई.एफ ) अवार्ड फंक्शन का आयोजन कल्याणजी जाना फाउंडर प्रेसिडेंट मुंबई द्वारा आयोजित मुंबई के पैनलसुला ग्रैंड होटल में आयोजित किया गया। अवॉर्ड फंक्शन में फिल्म और टेलीविजन इंडस्ट्री के कई जाने-माने कलाकार उपस्थित हुए।

डॉ. रूना शर्मा कॉस्मेटोलॉजिस्ट, अभिनेत्री, और सोशल एक्टिविस्ट के साथ-साथ (डी.पी.आई.एफ.) छत्तीसगढ़ महिला प्रेसिडेंट है।

कोरोना संक्रमण से सावधानी को ध्यान में रखकर अवॉर्ड फंक्शन में सभी गाइडलाइन का कड़ाई से पालन किया गया, करोना संक्रमण के शहीद डॉक्टर पुलिसकर्मी मीडिया कर्मी एवं अन्य जरूरतमंदों को डीपीआईए द्वारा आर्थिक मदद कर उन्हें सम्मानित किया गया।

संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत के निर्देश- स्थानीय कलाकारों को ज्यादा से ज्यादा प्रस्तुति के अवसर उपलब्ध कराएं

CGFilm – संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत ने अधिकारियों की बैठक में विभागीय काम-काज की समीक्षा की। श्री भगत ने अधिकारियों से कहा कि प्रदेश के कलाकारों को अधिक से अधिक प्रस्तुति का अवसर उपलब्ध कराए। श्री भगत ने स्थानीय और कला संस्कृति को संरक्षित और संवर्धित करने के लिए विशेष प्रयास करने के निर्देश दिए। श्री भगत ने कहा कि स्थानीय कलाकारों को उनके द्वारा प्रस्तुत कार्यक्रम का मानदेय शीघ्र उपलब्ध कराया जाना चाहिए। श्री भगत ने छत्तीसगढ़ की लोक, संस्कृति, लोकगीत, लोकगाथा, नृत्य, नाटक, परंपरा आदि को संरक्षण देने और उसका व्यापक प्रदर्शन के अवसर उपलब्ध कराने के भी निर्देश अधिकारियों को दिए। बैठक में संस्कृति विभाग के सचिव श्री अन्बलगन पी., संचालक श्री अमृत विकास तोपनो सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

दीवाली धमाका… श्याम टॉकीज में दोबारा रिलीज होगी जोहार छत्तीसगढ़ 15 नवंबर से…

CGFilm – छत्तीसगढ़ में काफी लंबे समय के बाद सिनेमाघरों के संचालन की अनुमति मिली है। कोरोना संक्रमण के चलते टॉकीजों में पिछले 9 महीने से ताला लगा हुआ था। लेकिन हाल ही में सिनेमाघरों को खोलन प्रशासन की ओर से अनुमति जारी कर दी गई है। लेकिन कोरोना संक्रमण को देखते हुए गाईड लाइन का पालन अनिवार्य होगा। वहीं आपको बता दें कि श्याम टॉकीज में 15 नवंबर से फिर जोहार छत्तीसगढ़ रिलीज हो रही है। तो तैयार रहिए जोहार छत्तीसगढ़ के साथ दीवाली मनाने 15 नवंबर को…

आपको बता दें कि इसी वर्ष 31 जनवरी 2020 को रायपुर के श्याम टॉकीज सहित पूरे प्रदेश के 15 सिनेमाघरों में जोहार छत्तीसगढ़ प्रदर्शित हुई थी। इस फिल्म को दर्शकों की ओर से काफी अच्छा रिस्पांस मिला था। फिल्म के रिलीज होने और पहले हफ्ते दर्शकों की प्रतिक्रिया को लेकर Cgfilm.in ने फिल्म के निर्देशक और हीरो देवेन्द्र जांगड़े से खास चर्चा भी की थी। तो उनके चेहरे की मुस्कान से साफ जाहिर है कि फिल्म सुपरहिट की ओर कदम बढ़ा चुकी है। देवेन्द्र जांगड़े ने दर्शकों को अच्छे रिस्पांस के लिए धन्यवाद भी दिया है। देवेन्द्र इस फिल्म में एक क्रांतिकारी युवक की भूमिका निभा रहे हैं, जिसका नाम अर्जुन ठाकुर है।

जोहार छत्तीसगढ़ प्रदेश के 15 से अधिक सिनेमाघरों में एक साथ रिलीज हुई। फिल्म से राज साहू ने अपने कैरियर की शुरूआत की है। वहीं देवेन्द्र जांगड़े, अभिनेत्री शिखा चिताम्बरे, अनिल शर्मा, पुष्पेंद्र सिंह, विक्रम राज, क्रांति दीक्षित, निशांत उपाध्याय, उपासना वैष्णव, हेमलाल कौशल, पुष्पांजलि शर्मा, ललित उपाध्याय, दीवाना पटेल भी इस फिल्म में आपको दिखाई देंगे। रायपुर में यह श्याम टॉकीज में प्रदर्शित हुई थी। इसी तरह, चंद्रा टॉकीज भिलाई, के शेरा शेरा मल्टीप्लेक्स दुर्ग, शिव टाकीज बिलासपुर, सिटी सिनेमा बसना, सिटी सिनेमा सारंगढ़, निहारिका टॉकीज कोरबा, रामनिवास टाकीज रायगढ़, मनूराज टाकीज मुंगेली, बालाजी टाकीज कसडोल, अलकनंदा टाकीज अंबिकापुर, मा भुनेश्वरी टाकीज कवर्धा, मेट्रो टाकीज जांजगीर, अमर टाकीज धमतरी और श्री कृष्णा टाकीज राजनांदगांव में प्रदर्शित हुई थी।

छत्तीसगढ़ में सिनेमाघरों को अनुमति…पर सख्त नियमों के साथ…50 प्रतिशत सीटों पर बैठ सकेंगे दर्शक…6 फीट की दूरी होगी जरूरी…

CGFilm – छत्तीसगढ़ में पिछले 9 महीनों से बंद सिनेमाघरों के खुलने का मार्ग तो प्रशस्त हो गया है, लेकिन सिनेमाघरों में कोरोना संक्रमण को लेकर सख्त निर्देश भी जारी किए गए हैं। जारी दिशा-निर्देशानुसार सिनेमाघर संचालकों को कोविड प्रोटोकॉल का सख्त पालन करना होगा। सिनेमाघरों में अधिकतम 50 प्रतिशत सीटों में ही बैठने की अनुमति रहेगी। छत्तीसगढ़ में सिनेमाघरों को फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए छह फिट की दूरी का मार्कर बनाकर बैठक व्यवस्था सुनिश्चित की जायेगी। सिनेमाघर के बंद स्थल में एयर कंडीशनिंग उपकरणों की उपलब्धता की स्थिति में उनकी तापमान 24 से 30 डिग्री सेल्सियस की सीमा में होना चाहिए।

सिनेमाघरों में एंट्री-एक्जिट प्वाइंट और कॉमन एरिया में टच फ्री सेनेटाइजर रखना अनिवार्य होगा। सिनेमाघर में प्रवेश के समय प्रत्येक का हाथ सेनेटाइजर से सेनेटाइज कर अथवा साबुन से धोने तथा थर्मल स्क्रिनिंग किया जाना अनिवार्य होगा। प्रत्येक व्यक्ति के लिये मास्क पहनकर फिजिकल तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना अनिवार्य होगा। कॉमन एरिया में छह फिट की दूरी का मार्क बनाया जाना अनिवार्य होगा। सिनेमाघरों में कोरोना के लक्षण रहित व्यक्तियों को ही प्रवेश की अनुमति होगी। कोरोना के प्रारंभिक लक्षण सर्दी, खांसी, बुखार वाले व्यक्ति को सिनेमा घर में प्रवेश नहीं दिया जायेगा। कंटेनमेंट जोन या बफर जोन में सिनेमाघर संचालन की अनुमति नहीं रहेगी।

सिनेमाघर संचालन से संबंधित जारी निर्देशानुसार सिनेमाघर संचालकों को श्वसन शिष्टाचार का कड़ाई से पालन सुनिश्चित किया जाना जरूरी होगा। कक्ष में अथवा कार्यक्रम में उपस्थित सभी व्यक्ति खांसते, छींकते समय टिश्यु पेपर, रूमाल, मुड़ी हुई कोहनी का प्रयोग करेंगे। सिनेमाघरों में आगंतुकों द्वारा छोड़े गये मास्क, फेस कवर, दस्तानों को मेडिकल वेस्ट मानते हुए उसका समुचित डिस्पोजल की व्यवस्था सिनेमाघर संचालकों द्वारा सुनिश्चित की जायेगी। सिनेमाघर में पान, गुटका खाकर एवं अन्यथा थुकना प्रतिबंधित रहेगा। सिनेमाघर में स्पर्श की जाने वाली सतहों जैसे- दरवाजे का हैंडल, माइक, कुर्सी, टेबल, रेलिंग-बैरिकेटिंग आदि को समय-समय पर एक प्रतिशत सोडियम हाइपोक्लोराइड के घोल से साफ किया जाएगा तथा प्रभावी कीटाणुनाशक से विसंक्रमित किया जाएगा।

सिनेमाघर के पार्किंग स्थलों एवं परिसर के बाहर समुचित भीड़ प्रबंधन में सोशल एण्ड फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा। सिनेमाघर संचालकों को कोरोना वायरस के संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिये समय-समय पर शासन द्वारा जारी कोरोना प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन करना अनिवार्य होगा।

सिनेमाघर के भीतर बैठने की व्यवस्था सामाजिक दूरी बनाते हुए करना होगा। मल्टीप्लैक्स में भीड़ से बचने के लिये कई स्क्रिन के लिये अलग-अलग शो समय का पालन किया जाना जरूरी होगा। मल्टीप्लैक्स संचालकों को यह ध्यान रखना जरूरी होगा कि किसी भी स्क्रीन पर शो का प्रारंभ समय, मध्यान्तर अवधि या शो के समापन के समय के साथ ओवर लेप ना करें। सिनेमाघरों, मल्टीप्लैक्सों में टिकिट की खरीदी पूरे दिन के लिये खुली रहेगी और बिक्री काउंटरों पर भीड़ से बचने के लिये एडवांस बुकिंग की अनुमति होगी।

टिकिट काउंटरों में पर्याप्त सामाजिक दूरी का पालन किया जाना जरूरी है। सिनेमाघर संचालकों द्वारा ऑनलाइन बुकिंग, ई-वॉलेट का उपयोग क्यूआर कोड स्कैनर आदि का उपयोग टिकिट, भोजन, पेय पदार्थ के लिये डिजिटल भुगतान को प्रोत्साहित किया जाएगा। कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग की सुविधा के लिये टिकिटों की बुकिंग के समय कॉन्टेक्ट नंबर लिया जाएगा।

सिनेमाघर, मल्टीप्लैक्स संचालन से संबंधित जारी दिशा-निर्देशानुसार सिनेमाघरों में प्रत्येक स्क्रिनिंग के बाद साफ-सफाई एवं सेनेटाइजेशन की जाएगी। बॉक्स ऑफिस, खाने-पीने का क्षेत्र, कर्मचारी और कर्मचारियों के लॉकर, शौचालय, सार्वजनिक क्षेत्र, ऑफिस क्षेत्र एवं पार्किंग क्षेत्रों की नियमित सफाई एवं सेनेटाइजेशन किया जाना जरूरी होगा। यदि किसी व्यक्ति को कोरोना पॉजिटिव पाया जाता है तो परिसर का सेनेटाइजेशन किया जाना अनिवार्य होगा। सभी सिनेमाघर कर्मचारियों के लिये फेस कवर पहनना अनिवार्य होगा। सभी सिनेमाघर संचालकों को अपने कर्मचारियों के मोबाइल फोन में आरोग्य सेतु एप्प सक्रिय रखना जरूरी होगा। सिनेमाघर में केवल पैकेज्ड फूड और पेय पदार्थों की अनुमति होगी। संचालकों द्वारा ग्राहकों को भोजन ऑर्डर करने के लिये सिनेमा एप्प या क्यूआर कोड आदि का उपयोग करने के लिये प्रोत्साहित करना होगा। जारी आदेश का उल्लंघन करने पर आपदा प्रबंधन अधिनियम, एपिडेमिक डीसीज एक्ट, भारतीय दण्ड संहिता तथा विधि अनुकुल कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

cinema-halls
cinema-halls

छत्तीसगढ़ राज्य स्थापना दिवस पर यूट्यूब चैनल दासवानी म्यूज़िक पर रिलीज हुआ छत्तीसगढ़ी मल्टी स्टारर सॉन्ग

CGFilm – छत्तीसगढ़ राज्य स्थापना दिवस पर एक ऐसा गीत रिलीज़ हुआ है, जिसमें आप एक ही गाने में छत्तीसगढ़ी फिल्मों के सारे सितारों को एक साथ एक ही मंच पर देख सकेंगे। जी हां, ये बेहतरीन और सराहनीय प्रयास किया है छत्तीसगढ़ी फिल्मों के निर्माता और निर्देशक राकी दासवानी ने। उनका ये प्रयास दर्शकों को भी खूब पसंद आएगा, क्योंकि इसमें दर्शक अपने मनपसंद निर्माता, निर्देशक और कलाकारों को एक साथ ही देख सकेंगे। छत्तीसगढ़ी फिल्मों, वीडियो एलबम और गीतों का सफर वैसे तो लंबे समय से चला आ रहा है। लेकिन पिछले 20 सालों से जब से छत्तीसगढ़ राज्य बना है, तभी से इसमें नित नए प्रयोग और नए-नए कलाकारों के एंट्री से छॉलीवुड की रौनकता में काफी निखार आया है। और लगातार फिल्मों के सफलता से निर्माता-निर्देशकों के साथ ही कलाकार भी काफी उत्साहित हैं।

https://youtu.be/WSgG2Nlflfg

यह गीत बहुत ही मधुर है, इस गीत में छत्तीसगढ़ के पर्यटन स्थल के साथ – साथ छत्तीसगढ़ के तीज – त्योहारों को बहुत ही सुन्दर ढंग से छत्तीसगढ़ के कलाकारों द्वारा सजाया गया है।

छालीवुड के दिग्गजों को एक गीत में पिरोने का अद्भुत काम कर दिखाया रॉकी दासवानी ने

वैसे आपको बता दें कि इस गीत को कोरियोग्राफ किया है निशांत उपाध्याय ने, इसके डीओपी हैं प्रदेश के चुनिंदा फोटोग्राफरों में से एक संतोष सोनू, गीतकार और संगीतकार घनश्याम महानन्द, और गायक है पद्मश्री अनुज शर्मा, सुनील सोनी, अनुराग शर्मा, गरिमा दिवाकर और घनश्याम महानन्द । इस गीत में आपको दिखएँगे छत्तीसगढ़ी फ़िल्म इंडस्ट्र के सभी चर्चित चेहरे, जिसमे हीरो, हीरोइन और चरित्र कलाकारों के अलावा गायक, निर्माता और निर्देशके भी शामिल है।

पद्मश्री अनुज शर्मा, पद्मश्री ममता चन्द्राकर, मन कुरैशी, प्रकाश अवस्थी, करण खान, मोना सेन, आकाश सोनी, सुनील तिवारी, गरिमा दिवाकर, दिलेश साहू, अनिकृति चौहान, रुना शर्मा, मनीषा वर्मा, अनुपमा मनहर, सोनाली सहारे और अशरफ अली के अलावा सतीश जैन, क्षमानिधि मिश्रा, मनोज वर्मा, संतोष जैन, मोहन सुंदरानी, प्रेम चन्द्राकर, अलक राय, रॉकी दासवानी, प्रदीप शर्मा, सुनील सोनी, घनश्याम महानंद, दिलीप षडंगी और जोशी सिस्टर्स के साथ ही अनुराधा दुबे, उर्वशी साहू, उपासना वैष्णव, छाया चंद्राकर, अनुराग शर्मा और योगेश अग्रवाल प्रमुख रूप से शामिल हुए।

छॉलीवुड में जुड़ा एक नया अध्याय
छत्तीसगढ़ी फिल्म के कलाकारों ने इस छॉलीवुड में नया अध्याय करार दिया है। जब एक साथ एक गाने में इतने सारे कलाकारों को पिरोया जा रहा है। ये नि:संदेह राकी दासवानी का बेहतरीन प्रयास है, जो निश्चित ही एक नया रिकॉड बनाएगी। रॉकी दासवानी का कहना है कि यह गाना छत्तीसगढ़ की भाषा, बोली, खान-पान को दर्शाता बहुत ही अच्छा है। इसमें मैंने सोचा कि कुछ नया किया जाए, इसलिए मैंने छॉलीवुड के तमाम कलाकारों को एक साथ लाने का प्रयास किया है।

वैसे देखा जाए तो जब से छत्तीसगढ़ राज्य बना है, तभी से छत्तीसगढ़ी फिल्में भी लगातार आ रही हैं। इसके साथ ही दर्शकों का रुझान भी लगातार छत्तीसगढ़ी फिल्मों की ओर बढ़ता ही जा रहा है। 1 नवंबर को सुबह दासवानी म्यूज़िक के यूट्यूब चैनल पर रिलीज हो गया है, और ये गीत निश्चित ही सफलता के नए सोपान गढ़ेगा।

छत्तीसगढ़ में इतिहास रचने वाली फिल्म मोर छंईया-भुईयां के 20 साल पूरे… 27 अक्टूबर 2000 को रिलीज हुई थी फिल्म…

छत्तीसगढ़ी फिल्मों के इतिहास में 27 अक्टूबर, 2000 का दिन हर किसी को याद होगा। इसी दिन छॉलीवुड की अब तक की सबसे बड़ी फिल्म मोर छंईया-भुईयां राजधानी के बाबूलाल टॉकीज में रिलीज हुई थी। और देखते ही देखते ही इस फिल्म में जबरदस्त प्रदर्शन करते हुए कई रिकॉर्ड अपने नाम कर लिए। इस फिल्म ने ऐसा इतिहास रचा कि जब भी छत्तीसगढ़ी फिल्मों की बात आएगी सबसे पहले मोर छंईया-भुईयां का नाम ही सामने आएगा। इस फिल्म के निर्माण के साथ ही सतीश जैन भी छॉलीवुड के नामचीन निर्माता और निर्देशक बन गए। इसके साथ ही मोर छंईया-भुईयां में मुख्य भूमिका निभाने वाले पद्मश्री अनुज शर्मा को सुपरस्टार का तमगा हासिल हुआ। इसके बाद एक के बाद कई फिल्मों के अनुज शर्मा को ऑफर आने लगे और उनकी फिल्मों की मांग भी लगातार बढऩे लगी।

बताया जाता है कि इस फिल्म के निर्माण के समय निर्माता, निर्देशक और लेखक सतीश जैन को काफी मेहनत भी करनी पड़ी। फिल्म बनाने उन्हें रिश्तेदारों से कर्ज भी लेना पड़ा। यहां तक कि खेत और मां के गहने तक गिरवी रख दिए। उस समय इस फिल्म की लागत 22 लाख आई थी और इसकी कमाई लगभग दो करोड़ के आसपास हुई। वहीं इस फिल्म के हीरो अनुज शर्मा इस फिल्म से रातों-रात स्टार बन गए। इस फिल्म के बाद उन्होंने मया दे दे मया ले ले और झन भूलौ मां-बाप ने.. जैसे बेहतरीन फिल्में की। सीजीफिल्म.इन सतीश जैन जी को और अनुज शर्मा को इस शानदार सफर के लिए शुभकामनाएं देता है।

मोर छंईया-भुईयां-2 को लेकर चर्चा
वहीं मोर छंईया-भुईयां की सफलता के बाद सतीश जैन की मोर छंईया-भुईयां-2 को लेकर चर्चाएं लगातार होती रही हैं। उन्होंने भी सीजीफिल्म.इन से जून महीने में इसे लेकर लंबी चर्चा की थी। फिलहाल इसकी स्क्रिप्ट की तैयारी की बात उन्होंने कही थी।


मंदराजी फिल्म के निर्देशक विवेक सारवा जी ने अपने जन्मदिन पर बतायी ये बात

CGFilm – छत्तीसगढ़ के पहली बायोपिक और टैक्स फ्री मंदराजी फिल्म के निर्देशक विवेक सारवा ने अपने जन्मदिन के अवसर पर नए फिल्म को लेकर चर्चा किये है, विवेक सारवा ने बताया है, की आगामी फिल्म भी Sarwa Brothers Films Productions द्वारा बनाया जाएगा। जिसके निर्माता – किशोर सारवा रहेंगे, और इस फिल्म को सिर्फ और सिर्फ कमर्शियल दृष्टिकोण से बनाया जाएगा, और इस फिल्म में नए कलाकारों को मौका दिया जाएगा, और यह फिल्म पूरी तरह से पारिवारिक और रोमांस के रोमांच से भरपूर रहेगा, अगले साल 2021 में इस फिल्म शूटिंग की शुरुआत किया जाएगा, और इसके जल्द ही कलाकरों का चयन प्रक्रिया की शुरुआत होने वाली है, कुछ महीने पहले लॉकडॉउन में विवेक सारवा ने इस नए फिल्म की कहानी पर काफी काम किया है, जैसे ही यह फिल्म पूरी होने के बाद, एक और बायोपिक फिल्म के तैयारी में जुट जाएंगे, इससे पहले विवेक सारवा ने छत्तीसगढ़ी लोकनाट्य नाचा के जनक श्री दुलार सिंह साव दाऊ मंदराजी के जीवनी पर छत्तीसगढ़ की पहली बायोपिक और टैक्स फ्री फिल्म मंदराजी का निर्देशन किया था, यह फिल्म छत्तीसगढ़ी सिनेमा जगत में एक नया आयाम और नया इतिहास की रचना की है, और आज भी दर्शक मंदराजी फिल्म की सराहना करते रहते है।

आज 27 अक्टूबर को विवेक सारवा का जन्मदिन है, अपने फिल्मी करियर को एक नया आयाम और फिल्म को व्यापारिक दृष्टिकोण के नजरिए से बनाया है, और विवेक सारवा कहते है, की इस बार दर्शकों को एक रोमांस और पारिवारिक का रोमांच का तालमेल देखने को मिलेगा, और छत्तीसगढ़ महतारी की सेवा में निरंतर सिनेमा जगत में एक नया प्रयास जरूर करता रहूंगा।

WhatsApp chat