राज्य स्थापना दिवस पर हुआ छत्तीसगढ़ी गीत का शानदार कार्यक्रम…आरू साहू और आयुषी राव ने बांधा शमां…

छत्तीसगढ़ राज्य स्थापना दिवस पर एक नवंबर को धमतरी में छत्तीसगढ़ी गीतों का शानदार कार्यक्रम आयोजित किया गया। इसमें छत्तीसगढ़ की नन्हीं गायिका आरू साहू और आयुषी राव ने बेहतरीन प्रस्तुतियां दी। कार्यक्रम मकई गार्डन में आयोजित किया गया था। जैसा कि आप जानते हैं कि कोरोना संकट के चलते सरकार की ओर से कोई कार्यक्रम आयोजित नहीं किया गया था, लेकिन स्थानीय युवाओं ने इस कार्यक्रम को आयोजित किया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि नगर निगम महापौर विजय देवांगन, एसपी बीपी राजभानु, एएसपी मनीषा ठाकुर रावटे, विजय गोलछा, रामू रोहरा, विक्रांत शर्मा अलावा पार्षद शामिल हुए। सबसे पहले छत्तीसगढ़ महतारी की भव्य महाआरती की गई। इसके बाद अरपा पैरी के धार महानदी हे आपार जय हो जय हो जय छत्तीसगढ़ मैय्या की प्रस्तुति हुई। जिसे काफी सराहा गया। लोगों का कहना है कि इस तरह का कार्यक्रम पूरे छत्तीसगढ़ में होना चाहिए।

आपको बता दें कि कल एक नवंबर को छत्तीसगढ़ राज्य का स्थापना दिवस मनाया गया। इस अवसर पर राज्यपाल अनुसुईया उइके की वर्चुअल उपस्थिति में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर आज आयोजित राज्योत्सव अलंकरण सम्मान समारोह में 30 विभूतियों एवं 03 संस्थानों को उनकी विशिष्ट उपलब्धियों तथा उल्लेखनीय कार्यों के लिए छत्तीसगढ़ राज्य अलंकरण से विभूषित किया। राज्य अलंकरण समारोह रायपुर स्थित मुख्यमंत्री निवास कार्यालय परिसर में आयोजित हुआ। राज्य अलंकरण सम्मान समाज सेवा, शिक्षा, चिकित्सा आदि सहित 24 क्षेत्रों में उल्लेखनीय उपलब्धियों एवं विशिष्ट कार्यों के लिए प्रदान किए गए। दीप प्रज्जवलन के बाद राज गीत अरपा पैरी के धार…. के गायन के साथ कार्यक्रम का शुभारंभ हुआ।

राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके ने छत्तीसगढ़ राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर आयोजित राज्य अलंकरण सम्मान समारोह को वर्चुअल संबोधित करते हुए कहा कि ‘छत्तीसगढिय़ा सबले बढिय़ाÓ का जो नारा सुना था, वाकई में वो चरितार्थ हो रहा है। राज्य गठन के बाद के इन वर्षों में आज छत्तीसगढ़ राज्य अपने पैरों पर खड़ा हो गया है। यहां के लोगों में आत्मविश्वास जागा है और इसी विश्वास के बलबूते छत्तीसगढ़वासियों का देश ही नहीं, देश के बाहर भी परचम लहरा रहा है। उन्होंने कहा कि आज राज्योत्सव के अवसर पर मुझे यह कहते हुए बहुत प्रसन्नता और गर्व की अनुभूति हो रही है कि परमात्मा और प्रकृति ने छत्तीसगढ़ को जो वरदान दिए हैं, छत्तीसगढ़वासी उन वरदानों को सहेजने और उनसे अपना जीवन संवारने में सफल हुए हैं। राज्यपाल ने समस्त छत्तीसगढ़वासियों को राज्य स्थापना दिवस की हार्दिक बधाई दी। उन्होंने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को बधाई देते हुए कहा कि उनके नेतृत्व में छत्तीसगढ़ निरंतर प्रगति कर रहा है।

राज्यपाल ने समारोह में सम्मानित होने वाले प्रबुद्धजनों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं दी और उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़वासियों के दिल में इतना प्यार समाया है कि जो भी उनसे मिलता है, उनका ही होकर रह जाता है। छत्तीसगढिय़ा बड़े सरल और सौम्य हैं। आज मुझे छत्तीसगढ़ के राज्यपाल का दायित्व ग्रहण किए करीब सवा साल हो रहे हैं, इस अल्प समय में छत्तीसगढ़वासियों ने मुझे इतना जल्दी आत्मसात कर लिया कि मुझे ऐसा लगता है कि मैं उनके ही परिवार की सदस्य हूं। सुश्री उइके ने छत्तीसगढ़ राज्य के निर्माण के लिए पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का स्मरण किया और राज्य निर्माण के संघर्ष में अपना बहुमुल्य योगदान देने वाले महापुरूषों को नमन भी किया।

WhatsApp chat