छत्तीसगढ़ी सुआ गाने “नाचंव अउ गावंव रे सुआ” में एक साथ नजर आएँगी चार बहने

CGFilm – छत्तीसगढ़ी एल्बम का दौर फिर से लौट आया है, बड़ी बजट का भी एल्बम बनना शुरु हो गया है। उसी कड़ी में पहली बार सुआ गीत में एक साथ चार बहने नजर आएँगी छत्तीसगढ़ी सुआ गाने “नाचंव अउ गावंव रे सुआ” के नाम से कल सुबह 7 बजे क्रिएटिव विज़न के यू टुब चैनल में रिलीज होगा। हालांकि चारो बहने पहले से ही प्रसिद्ध गायिका है, लेकिन पहली बार सुआ गीत के माध्यम से एक साथ सुनने व देखने मिलेंगे। चारो बहने छत्तीसगढ़ दूरदर्शन के “A” ग्रेड अधिकारी की सुपुत्री है।

इस गीत की रचना स्वयं विजया राऊत सहारे ,रजत दत्ता व् मीनाक्षी राऊत ने किया है, वही संगीत, प्रदेश के प्रसिद्ध संगीतकार सूरज महानंद ने दिए है। इस गीत की सूंदर कोरियोग्राफी सतीश साहू ने किया है, और छायांकन की कमान गौरव साहू संपादन बंटी व कार्तिक ने सम्हाला है। इन चारो बहनो के प्रेरणा स्रोत उनके माता पिता है।

इस गीत के निर्माता निर्देशक दिग्विजय वर्मा है, और सह निर्माता प्रभाकर राऊत, मिलींन सहारे, प्रदीप रूले है। सभी बहनों ने छत्तीसगढ़ में जन्म लिया है, और इसी मिट्टी में अपनी संगीत की शिक्षा पूरी की है संगीत में एम. ए., शास्त्रीय गायन, लोक संगीत एवं सुगम संगीत की शिक्षा ली है। सभी बहनों ने छत्तीसगढ़ी फिल्मों में, एल्बम में अपनी आवाज से अपनी-अपनी एक अलग पहचान बनाई है। गीत संगीत के क्षेत्र में राजकीय एवं राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। चारो बहनें आकाशवानी और दूरदर्शन की ग्रेडेड कलाकार हैं। देश के कई राज्यों में अपनी कला का प्रदर्शन किया है। विजया राऊत सहारे ने छत्तीसगढ़ की दर्जनो फिल्मों में एवं सैकडों एल्बम में और हिंदी फिल्मों में भी आवाज दी है।

छत्तीसगढ़ी सुआ गाने “नाचंव अउ गावंव रे सुआ”