छत्तीसगढ़ के प्रथम शहीद वीर नारायण सिंह पर बनेगी बॉयोपिक फिल्म…तीन भाषाओं में होगी रिलीज…देखें पहला वीडियो लुक

छत्तीसगढ़ के प्रथम शहीद वीर नारायण सिंह पर अनाया प्रोडक्शन के बैनरतले बॉयोपिक फिल्म का निर्माण किया जा रहा है। बताया जा रहा है कि ये फिल्म छत्तीसगढ़ी के अलावा हिन्दी और तमिल भाषा में भी बनेगी और पूरे भारत में एक साथ इसका प्रदर्शन किया जाएगा। इसका पहला वीडियो लुक जारी किया गया है।

आपको बता दें कि शहीद शहीद वीर नारायण सिंह का जन्म 1795 में हुआ था। वे छत्तीसगढ़ राज्य के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम सेनानी, एक सच्चे देशभक्त व गरीबों के मसीहा थे। जिन्होंने अंग्रेजों से लोहा लिया। शहीद वीर नारायण सिंह बिंझवार ने अंग्रेजों से लड़ाई की। सन् 1856 में पड़ा अकाल है जिसमें नारायण सिंह ने हजारों किसानों को साथ लेकर कसडोल के जमाखोरों के गोदामों पर धावा बोलकर सारे अनाज लूट लिए व दाने-दाने को तरस रहे अपने प्रजा में बांट दिए। इस घटना की शिकायत उस समय डिप्टी कमिश्नर इलियट से की गई। अंतत: ब्रिटिश सरकार ने उनपर बेबुनियाद आरोप लगाकर उन्हें बंदी बना लिया और 10 दिसम्बर 1857 को रायपुर के चौराहे वर्तमान में जयस्तंभ चौक पर बांधकर वीरनारायण सिंह को फांसी दी गई। उल्लेखनीय है कि गोंडवाना के शेर कहे जाने वाले अमर शहीद वीरनारायण सिंह बिंझवार को राज्य का प्रथम स्वतंत्रता संग्राम सेनानी का दर्जा प्राप्त है।

वहीं इनके सम्मान में छत्तीसगढ़ शासन के आदि जाति कल्याण विभाग ने उनकी स्मृति में पुरस्कार की स्थापना की है। इसके तहत राज्य के अनुसूचित जनजातियों में सामाजिक चेतना जागृत करने तथा उत्थान के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले व्यक्तियों तथा स्वैच्छिक संस्थाओं को दो लाख रुपए की नगद राशि व प्रशस्ति पत्र देने का प्रावधान है। वहीं उनके नाम से शहीद वीर नारायण सिंह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम, जिसे रायपुर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम भी कहा जाता है, का 2008 में उद्घाटन किया गया था। स्टेडियम छत्तीसगढ़ में नया रायपुर शहर में स्थित है।