इंतजार की घडिय़ां खत्म… 3 अगस्त को रिलीज होगी संदीप पाटिल की शार्ट मूवी ‘परी’… देखना ना भूलें…

इंतजार की घडिय़ां खत्म… 3 अगस्त को रिलीज होगी संदीप पाटिल की शार्ट मूवी ‘परी’… देखना ना भूलें…

CGFilm – छत्तीसगढ़ी फिल्म “दईहान द काउ मैन” से छॉलीवुड फिल्म इंडस्ट्री में कदम रखने वाले संदीप पाटिल अभिनीत शार्ट मूवी परी 3 अगस्त, 2020 को यू-ट्यूब पर रिलीज होने वाली है। आपको बता दें कि इस फिल्म ने शार्ट फिल्म फेस्टिवल में कई अवार्ड भी अपने नाम किए हैं। इतना ही नहीं, इस फिल्म की खासियत यह है कि रंग युवायन सम्मान से सम्मानित संदीप पाटिल के इसमें दो चेहरे दिखाई देंगे। एक पॉजिटिव और दूसरा निगेटिव। संदीप का कहना है कि इस फिल्म को तैयार करने में उन्हें 6 महीने का वक्त लगा और 3 अगस्त को ये फिल्म दर्शकों के बीच आने वाली है।

फिल्म में संदीप रोहन प्रताप सिंह की भूमिका अदा कर रहे हैं, जो की शहर के सबसे रईस आदमी के बेटे है और अपनी बहन से बेहद प्रेम करते हैं। लेकिन ऐसा क्या होता है की वो अपनी बहन से चिढऩे और नफरत करने लगता है।
तो इंतजार कीजिए शार्ट मूवी ‘परी’ का…

वैसे आपको बता दें कि इस फिल्म के डॉयरेक्टर और लेखक शुभम यादव हैं। वहीं फिल्म के अन्य कलाकारों में संदीप पाटिल, स्मिता गर्ग, अकबर बुखारी, मीनू सिंह और निषिता दुबे शामिल हैं।
आपको बता दें कि संदीप पाटिल 15 साल से थिएटर यानी रंगकर्म के क्षेत्र में सक्रिय हैं। 9वीं कक्षा से थिएटर की दुनिया से जुड़े संदीप ने निर्देशक सरफराज हसनजी के साथ थिएटर की शुरुवात की थी। वे थिएटर क्षेत्र में बेस्ट निर्देशक, बेस्ट एक्टर एवं रंग युवायन सम्मान से भी नवाजे गए हैं।

https://www.instagram.com/p/CDTdAj0pp6V/

News & update

भाई-बहन के रिश्तों को मजबूती देती अभिनेता संदीप पाटिल की शार्ट मूवी परी राखी पर (3 अगस्त) को रिलीज हुई। फिल्म में संदीप रोहन प्रताप सिंह की भूमिका अदा कर रहे हैं, जो की शहर के सबसे रईस आदमी के बेटे है और अपनी बहन से बेहद प्रेम करते हैं। ये मूवी सिर्फ 20 मिनट की ही है, लेकिन इतना जरूर है कि इसकी कहानी और फिल्मांकन के साथ ही एक बहुत ही अच्छे स्क्रिप्ट और सामाजिक ताने-बाने को इतने कम समय में ही लगभग पूरा प्रस्तुत किया गया है। और कहानी तो ऐसी है कि आपके दिल को छू जाएगी और फिल्म आपको पूरे अंत तक बांधे रखेगी। इसके अलावा फिल्म में आज भी व्याप्त लड़कियों के प्रति सामाजिक नजरिए को पेश किया गया है कि अगर किसी लड़की के साथ ज्यादती होती है तो भी दोषी उसे ही मान लिया जाता है और उसे घर और दुनिया के बीच कैसे-कैसे तानों के साथ जीने की मजबूरी होती है, लेकिन फिल्म में श्रेया और रोहन के बीच हुई एक संवाद ने सारी फिल्म की कहानी ही बदल कर रख दी है। तो यू-ट्यूब चैनल पर रिलीज हुई ये शार्ट मूवी जरूर देखें…

WhatsApp chat