पद्मश्री अनुज शर्मा को मिली अहम जिम्मेदारी… नियुक्त किए गए यूनिसेफ के प्रदेश ‘सेलिब्रिटी एडवोकेट’

CGFilm.in – छत्तीसगढ़ी फिल्मों के सुपर स्टार और कई पुरस्कारों से नवाजे गए पद्मश्री अनुज शर्मा को एक अहम जिम्मेदारी मिली है। वे प्रदेश में यूनिसेफ के ‘सेलिब्रिटी एडवोकेट’ बनाए गए हैं। आपको बता दें कि अनुज शर्मा छत्तीसगढ़ में यूनिसेफ के पहले सेलिब्रिटी एडवोकेट हैं। अनुज शर्मा स्वास्थ्य, पोषण, स्वच्छता, शिक्षा और बच्चों के संरक्षण को बढ़ावा देने और राज्य में जागरूकता पैदा करने में यूनिसेफ का साथ देंगे।

आपको बता दें कि पद्मश्री अनुज शर्मा की पहली फिल्म मोर छईहां-भुईयां ने इसी साल अपने 20 वर्ष पूरे किए हैं। 20 सालों पहले इस फिल्म ने जो रिकार्ड बनाए थे, वो आज भी यादगार हैं। इस फिल्म ने ऐसा इतिहास रचा कि जब भी छत्तीसगढ़ी फिल्मों की बात आएगी सबसे पहले मोर छंईया-भुईयां का नाम ही सामने आएगा। इस फिल्म के निर्माण के साथ ही सतीश जैन भी छॉलीवुड के नामचीन निर्माता और निर्देशक बन गए। इसके साथ ही मोर छंईया-भुईयां में मुख्य भूमिका निभाने वाले पद्मश्री अनुज शर्मा को सुपरस्टार का तमगा हासिल हुआ। इसके बाद एक के बाद कई फिल्मों के अनुज शर्मा को ऑफर आने लगे और उनकी फिल्मों की मांग भी लगातार बढऩे लगी।

बताया जाता है कि इस फिल्म के निर्माण के समय निर्माता, निर्देशक और लेखक सतीश जैन को काफी मेहनत भी करनी पड़ी। फिल्म बनाने उन्हें रिश्तेदारों से कर्ज भी लेना पड़ा। यहां तक कि खेत और मां के गहने तक गिरवी रख दिए। उस समय इस फिल्म की लागत 22 लाख आई थी और इसकी कमाई लगभग दो करोड़ के आसपास हुई। वहीं इस फिल्म के हीरो अनुज शर्मा इस फिल्म से रातों-रात स्टार बन गए। इस फिल्म के बाद उन्होंने मया दे दे मया ले ले और झन भूलौ मां-बाप ने.. जैसे बेहतरीन फिल्में की।