भूलन द मेज को एक करोड़ का पुरस्कार

CGFilm.in छत्तीसगढ़ राज्य स्थापना दिवस के मौके पर रायपुर के साइंस कॉलेज मैदान में आयोजित राज्य अलंकरण समारोह को सम्बोधित करते हुए राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके ने कहा कि छत्तीसगढ़ राज्य हर क्षेत्र में निरंतर प्रगति कर रहा है। मुझे यह कहते हुए बहुत प्रसन्नता और गर्व की अनुभूति हो रही है कि परमात्मा और प्रकृति ने छत्तीसगढ़ को जो वरदान दिए हैं, छत्तीसगढ़वासी उन वरदानों को सहेजने और उनसे अपना जीवन संवारने में सफल हुए हैं। मुझे विश्वास है कि हम अपने संसाधनों का संतुलित और बेहतर उपयोग करते हुए सबसे विकसित राज्यों में शामिल होंगे। उन्होंने इस अवसर पर छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण में योगदान देने वाले पुरखों का भी स्मरण किया। इस मौके पर उन्होंने प्रदेशवासियों को राज्य स्थापना दिवस की हार्दिक बधाई दी और राज्य अलंकरण पुरस्कार प्राप्त करने वाले विभूतियों को भी बधाई और शुभकामनाएं दी।

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने इस मौके पर तीन दिवसीय छत्तीसगढ़ लोककला, साहित्य एव युवा महोत्सव का आयोजन किए जाने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि स्वामी विवेकानंद जी की जयंती के अवसर पर हर साल 12 से 14 जनवरी तक आयोजित  होगा। उन्होंने कहा कि कहा कि हमारी सरकार ने छत्तीसगढ़ की संस्कृति, परम्परा को पुन: स्थपित करने और छत्तीसगढ़ बोली-भाषा को आगे बढ़ाने का कार्य किया।
सम्मानित हुई विभूतियां, फिल्म भूलन द मेज को एक करोड़ का पुरस्कार

राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके एवं मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने इस मौके पर कला, साहित्य, संस्कृति और समाज सेवा के विभिन्न क्षेत्रों में सर्वश्रेष्ठ उपलब्धियां हासिल करने वाले विभूतियों को राज्य अलंकरण सम्मान से सम्मानित किया गया। समारोह में संस्कृति विभाग द्वारा प्रकाशित बिहिनिया, छत्तीसगढ़ के पारंपरिक वाद्य यंत्र, आदिवासी नृत्य पर आधारित पुस्तिका एवं राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव 2021 के कॉफी टेबल बुक के कव्हर पेज का विमोचन किया गया। इस अवसर पर छत्तीसगढ़ राज्य की फिल्म नीति के प्रावधान के तहत राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त क्षेत्रीय  फिल्म भूलन द मेज के निर्माता निर्देशक को राज्य शासन की ओर से एक करोड़ रूपए का पुरस्कार प्रदान किया गया।
राज्य अलंकरण समारोह में पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री टी.एस. सिंह देव, कृषि मंत्री श्री रविन्द्र चौबे, वन मंत्री श्री मोहम्मद अकबर, स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम, नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया, उद्योग मंत्री श्री कवासी लखमा, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री गुरू रूद्र कुमार, महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती अनिला भेंडिय़ा, उच्च शिक्षा मंत्री श्री उमेश पटेल, राजस्व मंत्री श्री जयसिंह अग्रवाल, सांसद श्री सुनील सोनी, राज्यसभा सांसद श्री रामविचार नेताम, संसदीय सचिवगण, विधायकगण, विभिन्न निगमों, मण्डलों के अध्यक्षगण एवं अन्य जनप्रतिनिधि व बड़ी संख्या में नागरिकगण उपस्थित थे।