गंगरेल बांध धमतरी छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ के सबसे लम्बे बांध के रूप में पहचाने जाने वाले रविशंकर जलाशय। जिसे लोग गंगरेल बांध के रूप में जानते हैं। पिकनिक, पर्यटन स्थल व मिनी गोवा के रूप में महशूर यह बांध देखने में बहुत ही खुबसुरत है। इसी कारण से इस जगह प्रति वर्ष पुरे भारत वर्ष से लाखों पर्यटक घूमने आते हैं। यहां की सबसे खूबसूरत नजारा सूर्योदय और सूर्यास्त हैं। इस बांध (Gangrel Dam) को हाइड्राल पावर परियोजना की तहत निर्माण कराया गया हैं। जिसकी जल क्षमता 1500 क्यूसेक हैं। 15किमी लम्बा तथा 10MV पावर क्षमता हैं। छत्तीसगढ़ पर्यटन विभाग द्वारा रायपुर से धमतरी तक के tourism package निर्धारित किया गया हैं। ताकि बाहर से आने वाले पर्यटक को किसी भी तरह का कोई प्रॉब्लम ना हो।

धमतरी जिला के ऑफिसियल वेबसाइट www.dhamtari.gov.in के अनुसार गंगरेल बांध छत्तीसगढ़ राज्य के सबसे लम्बा बांध माना जाता हैं। जो सन 1978 में बनकर तैयार हुआ हैं। जिसका लोकापर्ण उस समय के तत्कालीन प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गाँधी ने अपने हाथों से किया हैं। इस बांध को महानदी पर बनाया गया हैं जो छत्तीसगढ़ की प्राणदायिनी नदी के नाम से जाना जाता हैं। जो करीब 1830 मीटर लम्बा और 100 फुट ऊँची हैं। 57000 हेक्टेयर भूमि को सिंचित करती हैं।
कहा जाता हैं इस बांध के निर्माण के लिए साढ़े 16 हजार एकड़ जमीन गांवो ने मिलकर दी हैं। इस बांध का जब सन 1972 में निर्माण किया जा रहा था, तब इस बांध के डुबान क्षेत्र में लगभग 52 गांव आये थे। गंगरेल बांध के दूसरी छोर में माता अंगारमोती विराजित है, जिसकी ख्याति दूर-दूर तक फैली हुई हैं।

इस बांध में बिजली उत्पादन 10 मेगावाट तक किया जाता हैं। इस बांध के बनने से वर्षभर सिंचाई के लिए पानी उपलब्ध रहता है, जिसके कारण यहाँ की फसल पैदावार अधिक मात्रा में होती हैं।

कैसे पहुंचे

हवाई यात्रा –

छत्तीसगढ़ राज्य के बहार से आने वाले पर्यटको के लिए राजधानी से Gangrel Dam के लिए 80 किमी का सफर तय करना होगा।

सड़क मार्ग –

धमतरी जिला के लिए छत्तीसगढ़ के सभी शहरों से नियमित बसें संचालित होती हैं। राष्ट्रीय राजमार्ग 30 में स्थित होने के कारण यहाँ सुगमता से पहुंचा जा सकता हैं।
रुकने की व्यवस्था
दोस्तों छत्तीसगढ़ पर्यटन विभाग द्वारा यहाँ कॉटेज निर्माण कराया गया। ट्रेवल पैकेज या बाहर से आने वाले पर्यटकों के लिए हमेशा उपलब्ध रहता हैं।
इस जगह के आसपास देखने के लिए बहुत सी जगह हैं। आप स्वयं के वाहन से आते है तो आप बहुत सारे जगहों को एक साथ ही विजिट कर सकते हैं। छत्तीसगढ़ पर्यटन विभाग द्वारा गंगरेल बांध के पैकेज भी उपलब्ध रहता हैं।
अंगारमोती माता – माता जी की मंदिर गंगरेल बांध में बना हुआ हैं। आप दोनों जगह को एक साथ विजिट कर सकते हैं। साथ ही एडवेंचर एक्टिविटी का आनंद मिनी गोवा मे उठा सकते हैं।
बिलाई माता धमतरी – बहुत ही सुन्दर मंदिर, जो शहर के बीचो-बीच स्थित हैं। जो माता की सगी बहन मानी जाती हैं। उनके दर्शन मात्र से मन महक उठता हैं।
मॉडम सिल्ली बांध – भारत के प्रथम बांध के रूप में चिन्हित माडमसिल्ली बांध को भी आप देखने को जा सकते हैं।
सिहावा-नगरी – महानदी का उदगम इसी पहाड़ से हुआ हैं। जो बहुत ही खूबसूरत हैं।

टीप –

जैसा कि आप सब जानते हैं Cgfilm.in लगातार छत्तीसगढ़ी फिल्मों, वीडियो सांग, एलबम, शार्ट फिल्में और कलाकारों। लोक कलाकारों और उन सभी कलाकारों। जो शूटिंग के दौरान महत्वपूर्ण भूमिकाएं निभाते हैं। इन सबकी खबर आप तक पहुंचाता है। Cgfilm.in में हमने छत्तीसगढ़ के सभी नामी कलाकारों के साथ ही कला जगत से जुड़े अधिकांश कलाकारों की प्रोफाइल भी बनाई है। इसके अलावा कलाकारों, फिल्मों की शूटिंग और वीडियो सांग की खबरें लगातार हर दिन आप तक Cgfilm.in पहुंचाते आ रहा है।

इसके साथ ही Cgfilm.in की कोशिश रहती है की। वो छत्तीसगढ़ी फिल्म निर्माताओं और कलाकारों के साथ सीधी बातचीत कर शूटिंग के दौरान उनके अनुभवों और रूझान को भी सामने लाए। ताकि इंडस्ट्री में आने वाले नए कलाकारों को उनसे कुछ सीखने का मौका मिले। वे उनसे प्रेरित होकर एक बेहतरीन कलाकार बन सकें। Cgfilm.in से आप भी जुड़ सकते हैं, तो देर किस बात की…

Connect with us:

Website: https://www.cgfilm.in
Facebook: https://www.facebook.com/CGFilm.in
Twitter: https://twitter.com/cg_film
Instagram: https://www.instagram.com/cgfilm.in
Youtube: http://bit.ly/CGFilmI