(फिल्म समीक्षा) चमन बहार : जमीनी हकीकत पर बनी बेहतरीन फिल्म… आपको जरूर आएगी पसंद…

वैसे तो फिल्मों में हर तरह की कहानियां दर्शकों को देखने को मिलती हैं। लेकिन हाल ही नेटफ्लिक्स पर रिलीज हुई मूवी चमन बहार की बात करें तो यह फिल्म जमीनी हकीकत पर बनी एक बेहतरीन फिल्म है। फिल्म की कहानी गांव के एक सामान्य युवक जितेन्द्र कुमार यानी बिल्लू की है, जो किसी भी तरह अपनी एक अलग पहचान बनाना चाहता है और इसके लिए वह चमन बहार नाम से पान की दुकान खोलता है। यहीं से बिल्लू के संघर्ष की कहानी धीरे-धीरे फिल्म में आगे बढ़ती जाती है। शहर से बाहर होने के कारण बिल्लू की दुकान में ग्राहकों का टोटा रहता है, लेकिन कुछ समय बाद उसके दुकान के ठीक सामने एक इंजीनियर का परिवार रहने आता है। तो उसी परिवार की रिंकू ननोरिया (रितिका बदियानी) इलाके के लड़कों का आकर्षण का केंद्र बन जाती है। गांव के लड़के रिंकू के दीवाने हो जाते हैं। वहीं बिल्लू भी मन ही मन रिंकू से प्यार करने लगता है। इसके बाद क्या होता है, इन सबके लिए आपको मूवी तो जरूर देखनी होगी।

वैसे आपको बता दें कि इन्हीं सब के बीच फिल्म की कहानी धीरे-धीरे आगे बढ़ती जाती है। फिल्म के डायरेक्टर अपूर्वधर बडगैयां हैं, जिन्होंने फिल्म और फिल्म की कहानी दोनों को स्क्रीन पर बड़े ही सुंदर तरीके से सजाया है। इसके साथ ही फिल्म की एक और खासियत है कि इसकी अधिकांश शूटिंग छत्तीसगढ़ के लोरमी में हुई है और फिल्म में रायपुर, बिलासपुर, रायगढ़ का जिक्र भी हुआ है। इसके प्रमुख कलाकारों में जितेंद्र कुमार, भुवन अरोड़ा, रितिका बदियानी, आलम खान, धीरेंद्र तिवारी हैं।