संस्कृति मंत्री के निर्देश- छत्तीसगढ़ी फिल्म उद्योग को बढ़ावा देने फिल्म सिटी और नीति बनाने के काम में लाएं तेजी, ट्रेनिंग की सुविधा में मुहैया कराने कहा…

संस्कृति मंत्री के निर्देश

संस्कृति मंत्री के निर्देश CGFilm – संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत ने मंगलवार को अधिकारियों की बैठक में संस्कृति विभाग के कामकाज की समीक्षा की। श्री भगत ने कहा कि वे प्रत्येक माह विभाग के काम-काज की समीक्षा करेंगे। श्री भगत ने अधिकारियों से कहा कि छत्तीसगढ़ी भाषा, संस्कृति और परम्परा को बढ़ावा देने के लिए छत्तीसगढ़ में फिल्म सिटी बनाने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि फिल्म सिटी और फिल्म नीति बनाने के काम में तेजी लाएं। साथ ही छत्तीसगढ़ी फिल्म उद्योग को बढ़ावा देने के लिए उसके सहयोगी संस्थान जैसे कला केन्द्र, संगीत स्कूल, अभिनय, वादन, गायन, लाइटिंग, साउंड आदि की ट्रेनिंग की सुविधाएं भी यहां होनी चाहिए ताकि कलाकारों को प्रदेश से बाहर प्रशिक्षण के लिए न जाना पड़े।

श्री भगत ने पुरखौती मुक्तांगन में विद्युतीकरण का काम क्रेडा से कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पुरखौती मुक्तांगन में विद्युतीकरण शीघ्र किया जाए। साथ ही जो निर्माण कार्य किया जाना उसे भी तत्काल शुरू करें। उन्होंने कलाकारों को शेष भुगतान को शीघ्र कराने के निर्देश दिए। श्री भगत ने कहा कि प्रदेश के सभी जिला मुख्यालयों सहित मंत्रालय एवं अन्य महत्वपूर्ण स्थानों में गढ़ कलेवा शुरू करने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने गढ़ कलेवा खुलवाने के काम को जल्दी से जल्दी कराने के निर्देश दिए। श्री भगत ने कहा कि गढ़ कलेवा खुल जाने से प्रदेश के गांवों से आने वाले लोगों को कम पैसे में स्वादिष्ट छत्तीसगढ़ी व्यंजन उपलब्ध हो सकेगा। श्री भगत ने गढ़ कलेवा खुलवाने की कार्रवाई एक सप्ताह के भीतर करने को कहा है। श्री भगत ने राजिम पुन्नी मेला, विभागीय बजट की अद्यतन स्थिति, भर्ती-पदोन्नति, विभागीय सेटअप आदि की भी समीक्षा की। बैठक में संस्कृति संचालक अनिल कुमार साहू सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *