दुनियाभर में मशहूर राजस्थान का पुष्कर मेला शुरू, 8 नवंबर तक आयोजित होगा

1 नवंबर से पुष्कर मेले का आगाज हो गया है। राजस्थान का पुष्कर मेला खूब फेमस है। इस मेले को दुनिया का सबसे बड़ा ऊंट फेस्टिवल भी कहा जाता है। इस मेले को देखने के लिए देश के कोने-कोने से ट्यूरिस्ट पहुंचते हैं। यहां आपको विदेशी सैलानियों की भीड़ भी दिखेगी। मेला पुष्कर में लगता है, जो अजमेर जिला मुख्यालय से करीब 12 किलोमीटर दूर है।
पुष्कर मेला राजस्थान का सबसे मशहूर फेस्टिवल है। रेत में सजे-धजे ऊंटों को करतब करते हुए देखने का एक्सपीरियंस ही अलग है। इस मेले में आकर आप कला और संस्कृति के अनूठा संगम देख सकते हैं। हालांकि, इस बार लंपी चर्म रोग के फैलने के कारण यहां के फेमस पशु मेले के बिना ही आठ दिन का कार्यक्रम आयोजित किया गया है।
राजस्थान पर्यटन विभाग द्वारा ‘पुष्कर चलो अभियान’ के तहत अलग-अलग देशों के लाखों पर्यटकों को आमंत्रित किया गया है। इस मेले में अलग-अलग प्रतियोगिताएं भी आयोजित की जाती हैं। मेले में ट्रेडिशनल और फ्यूजन बैंड भी अपनी परफॉर्मेंस का प्रदर्शन करेंगे। इसके अलावा मेले में टेस्टी डिशेज और सुंदर शिल्प कौशल भी प्रदर्शित किया जाएगा।
पुष्कर मेले के दौरान कल से यह कार्यक्रम होंगे


• गुरुवार 3 नवम्बर को सुबह 8 बजे से वाटर वक्र्स पम्प हाउस पर सेण्ड आर्ट, सुबह 10 बजे मेला ग्राउण्ड पर कबड्डी मैच लोकल और विदेशी खिलाड़ियों में, सुबह 11 बजे मेला ग्राउण्ड पर पतंग प्रतियोगिता, दोपहर एक बजे मेला ग्राण्ड पर इन्टर पंचायत समिति ग्रामीण खेल रस्साकशी, वॉलीबॉल एवं कबड्डी और सायं 7 बजे मेला ग्राउण्ड स्टेज पर कल्चरल परफॉर्मेंस वेस्ट जोन और नोर्थ जोन द्वारा होगा.
• शुक्रवार 4 नवम्बर को सुबह 6.30 बजे सांझी छत पर नेचर वॉक, सुबह 8 बजे वाटर वक्र्स पम्प हाउस पर सेण्ड आर्ट, सुबह 8.30 बजे गुरुद्वारा से मेला ग्राउण्ड तक स्प्रिचुअल वॉक, दोपहर एक बजे मेला ग्राउण्ड पर इन्टर पंचायत समिति ग्रामीण खेल, सायं 4 बजे शिल्पग्राम पर शिल्पग्राम हैण्डीक्राप्ट बाजार का शुभारंभ, सायं 6 बजे पुष्कर सरोवर घाट पर महा आरती, सायं 6 बजे मेला ग्राउण्ड स्टेज पर लोकल आर्टिस्ट द्वारा वॉइस ऑफ पुष्कर लोकल और सायं 7 बजे जयपुर घाट पर भजन संध्या, पुष्कर सरोवर पर दीपदान और महा आरती, मेला ग्राउण्ड स्टेज पर कबीर यात्रा और कबीर कैफे लाइव कन्सर्ट होगा.


• शनिवार 5 नवम्बर को सुबह 8 बजे वाटर वक्र्स पम्प हाउस पर सैण्ड आर्ट, सुबह 9 बजे मेला ग्राउण्ड पर लगान स्टाइल क्रिकेट मैच, सुबह 11 से सायं 8 बजे तक शिल्पग्राम पर हैंडीक्राप्ट बाजार, सुबह 11 बजे मेला ग्राउण्ड पर मूंछ प्रतियोगिता, सुबह 11.30 बजे मेला ग्राउण्ड पर पगड़ी और तिलक प्रतियोगिता विदेशी पर्यटकों द्वारा, दोपहर एक बजे मेला ग्राउण्ड इंटर पंचायत समिति ग्रामीण खेल प्रतियोगिता फाइनल, सायं 6 बजे मेला ग्राउण्ड स्टेज पर वॉइस ऑफ पुष्कर लोकल आर्टिस्ट द्वारा एवं पुष्कर सरोवर घाट पर महा आरती और सायं 7 बजे मेला ग्राउण्ड पर कल्चरल परफॉर्मेंस गुलाबों सपेरा ग्रुप द्वारा होगा.
• रविवार 6 नवम्बर को सुबह 6.30 बजे सांझी छत पर नेचर वॉक, सुबह 8 बजे वाटर वक्र्स पम्प हाउस पर सैण्ड आर्ट, सुबह 10.30 बजे मेला ग्राउण्ड पर मटका रेस महिलाओं द्वारा, सुबह 11 बजे से सायं 8 बजे तक शिल्पग्राम पर हैण्डीक्राप्ट बाजार, सुबह 11.30 बजे से मेला ग्राउण्ड पर म्यूजिकल चेयर प्रतियोगिता महिलाओं द्वारा, सायं 4 से 7 बजे वाटर वर्क पम्प हाउस पर सैण्ड आर्ट प्रतियोगिता, सायं 6 बजे मेला ग्राउण्ड स्टेज पर वॉइस ऑफ पुष्कर लोकल आर्टिस्ट द्वारा एवं पुष्कर सरोवर घाट पर महा आरती और सायं 7 बजे मेला ग्राउण्ड स्टेज पर बेस्ट ऑफ राजस्थान के तहत विविध राजस्थानी नृत्यों व कलाओं के आयोजन होंगे.


• सोमवार 7 नवम्बर को सुबह 8 बजे वाटर वक्र्स पम्प हाउस पर सैण्ड आर्ट, रात 10.30 बजे मेला ग्राउण्ड पर फोटोग्राफी प्रतियोगिता, सुबह 11 से सायं 8 बजे तक शिल्पग्राम पर हैण्डीक्राप्ट बाजार, सायं 6 बजे पुष्कर सरोवर घाट पर महा आरती, सायं 7 बजे मेला ग्राउण्ड पर बॉलीवुड नाइट आयोजित होगी जिसमें बॉलीवुड के मशहूर प्लेबैक सिंगर मोहित चौहान अपनी प्रस्तुतियां देंगे साथ ही आतिशबाजी होगी.
• मंगलवार 8 नवम्बर को सुबह 8 बजे वाटर वर्क पम्प हाउस पर सैण्ड आर्ट, सुबह 9 बजे मेला ग्राउण्ड पर समापन समारोह के तहत मेगा कल्चरल इवेंट, पुरस्कार वितरण, ग्रुप डांस, कला जत्था, जेल और पुलिस बैण्ड, मटका रेस, बोरी रेस, स्पून रेस, टग ऑफ वार आदि के विजेताओं को पुरस्कृत किया जाएगा. सुबह 11 से 8 बजे तक शिल्पग्राम पर शिल्पग्राम हैण्डीक्राप्ट बाजार लगेगा एवं सायं 6 बजे पुष्कर घाट पर महा आरती होंगी.