फिल्म समीक्षा : चल हट कोनो देख लिही… सतीश जैन…नाम ही काफी है

CGFilm.in (एकान्त चौहान)। छत्तीसगढ़ी फिल्मों के जाने-माने डायरेक्टर सतीश जैन की बहुप्रतीक्षित फिल्म चल हट कोनो देख लिही…आज पूरे छत्तीसगढ़ में एक साथ रिलीज हुई। इससे पहले सतीश जैन के डायरेक्शन की फिल्में मोर छईयां भुईयां…हंस झन पगली ने तो सारे रिकॉर्ड की तोड़ दिए थे। अब चल हट कोनो देख लिही…भी नए रिकॉर्ड बनाने की तैयारी में है।
कुछ फिल्में ऐसी होती है, जिसमें दर्शक अपनी चहेते हीरो और हीरोईन की अदाकारी देखने जाते हैं, तो कुछ फिल्में दमदार खलनायकी से ही सुपरहिट हो जाती है। ठीक इसी तरह छॉलीवुड में सतीश जैन आज सुपरहिट फिल्में देने का पर्याय बन चुके हैं। इसलिए सतीश जैन का नाम आते ही और उनकी फिल्मों का जिक्र आते ही दर्शकों का एक बड़ा वर्ग उनकी फिल्में देखने उत्सुक रहते हैं। दर्शक तो यहां तक कहते नजर आते हैं- सतीश जैन…नाम ही काफी है।
तो चलिए हम वापस लौटते हैं फिल्म चल हट कोनो देख लिही… की ओर। फिल्म की कहानी में आपको कुछ नयापन अवश्य दिखेगा। ये नयापन क्या है, ये दर्शक अपने नजरिए से ही तय करेंगे, इसलिए इस फिल्म को आप अपने नजदीकी सिनेमाघरों में अवश्य देखिए।

कहानी
फिल्म की कहानी शुद्ध पारिवारिक है। एक ऑटो चलाने वाले को एक मंत्री की अहंकार से चूर बेटी से प्यार हो जाता है। जाहिर है ये रिश्ता मंत्रीजी को तो पसंद नहीं आएगा, बस फिल्म की कहानी यहीं से शुरू होती है। फिर कुछ उतार-चढ़ाव और अपने प्यार को पाने की हीरो की जिद और हीराईन का अंहकार चूर करने की चाहत के बीच तेजी से फिल्म आगे बढ़ती है। और आखिरकार हर फिल्मों की भांति इस फिल्म का भी हैप्पी इंडिग होता है।
संगीत पक्ष
चल हट कोनो देख लिही के संगीत पक्ष की बात करें तो संगीत पक्ष आपको अत्यंत मधुर और कर्णप्रिय लगेगा। पूरी फिल्म के दौरान कहीं भी ऐसा महसूस नहीं हुआ कि कानों में कुछ जोर पड़ रहा है। हर एंट्री और हर सीन के बीच बैकग्राउंड में जो संगीत है वो बहुत ही अच्छा है।

गाने
वैसे तो फिल्म के हर गाने काफी अच्छे हैं और फिल्म रिलीज होने के पहले ही काफी पॉपलुर हो चले हैं। लेकिन टॉयटल सांग के साथ ही शादी वाला गाना आपको भी झूमने पर मजबूर कर देगा।
फिर दिखा दिलेश का एक्शन अवतार
फिल्म में ऑटो चालक का रोल अदा करने वाले दिलेश ने एक्शन वाले सीन से अपनी पहले की पहचान लौटाई है। जी हां, आपने पहले दिलेश को लव दीवाना में दमदार एक्शन करते देखा था। फिर मोर जोड़ीदार-2 में वे रोमांटिक मूड में नजर आए। लेकिन इस फिल्म में आपको दिलेश की दोनों ही तरह का रोल देखने को मिलेगा।
रजनीश झांजी ने मंत्री के रोल फूंकी जान
छॉलीवुड एक्टर रजनीश झांजी वैसे तो अपने हर रोल के साथ न्याय करते हैं। पर चल हट कोनो देख लिही…में उन्होंने जिस तरह एक मंत्री का रोल प्ले किया है, वो वाकई जान फूंकने वाला है। उनके डॉयलाग बोलने का अंदाज और रोल दोनों ही काफी शानदार हैं।

दमदार है शारदा देवी का रोल
फिल्म में शारदा देवी का रोल दमदार है। वे हीरो की मां बनी हैं। शारदा देवी का रोल अंजली सिंह ने निभाया है। और जिस दमदारी से उन्होंने अपनी अदाकारी दिखाई है, वो वाकई तारीफ के काबिल है। फिल्म में नारी शक्ति का पर्याय बनी शारदा देवी के हर डॉयलॉग पर दर्शक ताली बजाने को मजबूर हुए।

अंत में
कुल मिलाकर सतीश जैन अपने डायरेक्शन से एक बार फिर दर्शकों का दिल जीतने में कामयाब होंगे और उनकी यह फिल्म भी अन्य फिल्मों की तरह ही सुपरहिट होगी। इसके साथ ही यदि आप शुद्ध पारिवारिक और हंसी मजाक के बीच समधुर संगीत और गानों  की चाहत रखते हैं तो जरूर अपने नजदीकी सिनेमाघरों में ये फिल्म जरूर देखें।