‘मंदराजी’ के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेता से नवाजे गए छॉलीवुड के ‘बेनाम बादशाह’ करण खान…

CGFilm – छत्तीसगढ़ी फिल्मों के मशहूर अभिनेता करण खान को बुधवार को आयोजित स्मार्ट सिनेमा अवार्ड में मंदराजी में उनके शानदार अभिनय के लिए बेस्ट अवार्ड मिला है। मंदराजी छॉलीवुड की पहली बायोपिक फिल्म थी। ये फिल्म 26 जुलाई 2019 को रिलीज हुई थी। सार्वा ब्रदर्स फिल्म प्रोडक्शन एंड मां नर्मदा फिल्मस का मंदराजी फिल्म बनाना एक साहसिक कदम रहा है। तो बायोपिक के लिए दाऊ मंदराजी के जीवनी को पर्दे में हूबहू किरदार का निभाना भी करण खान के लिए भी काफी साहसिक कदम रहा है। जिसे करण खान ने बखूबी निभाया भी। साथ ही साथ दाऊ मंदराजी की पत्नी रामहिन का किरदार ज्योति पटेल के लिए चरित्र अभिनेत्री की पहचान बनी है।

Best Actor – Karan Khan (Mandraji)

आपको बता दें कि करण खान ने तोर मया के मारे, मितान 420, तीजा के लुगरा, लैला टिपटॉप छैला अँगूठा छाप, मोहि डारे, तोला ले जाहूं उढरिया, अजब जिनगी गजब जिनगी, दबंग देहाती, दगाबाज, बाप बड़े न भैय्या सबले बड़े रुपैय्या, बंधना, राधे अंगूठा छाप, मंदराजी, ससुराल और बेनाम बादशाह जैसे कई छत्तीसगढ़ी फिल्मों में अपनी अदाकारी दिखाई है। इसके अलावा हाल ही में आई उनकी शार्ट मूवी ‘सच… करू है जी भारी करू हे’ ने एक खास संदेश दिया है। इस शार्ट मूवी को आप एक बार जरूर देखें। इस वीडियो के डॉयरेक्टर, राइटर और एक्टर भी करन खान ही हैं। करण ने इस छोटी से फिल्म में नशे से दूर रहने का बहुत ही बढिय़ा संदेश दिया है।

करन की ‘बेनाम बादशाह’ देखकर रो पड़े थे दर्शक
करन खान की वर्ष 2020 में साल के शुरूआत में रिलीज हुई बेनाम बादशाह देखकर कई दर्शकों की आंखे भर आई थी। ये भी तो करन खान की अदाकारी का ही जलवा है, जो जिन्होंने परदे पर जीवंत किया था। जब फिल्म देखकर निकले दर्शकों की प्रतिक्रिया जानना चाही तो कई दर्शकों की आंखें भर आई थी। वो भरभराए आवाज में सिर्फ इतना ही कह पाए कि फिल्म अच्छी है। इसके अलावा कुछेक दर्शक तो सिर्फ आंसू ही लिए हुए थे, कुछ कह ही नहीं पाए। तो आखिर फिल्म की कहानी में काफी दम तो है, कि वो दर्शकों को इतना पसंद आई कि वो अपने भावनाओं को रोक नहीं सके और आंसूओं के रूप में निकल आए। बेनाम बादशाह जैसा कि नाम से ही पता चलता है, ऐसा शख्स जो अपने वसूलों पर चलता हो। फिल्म प्रणव झा के निर्देशन में बना है और फिल्म के हीरो हैं करण खान और हीराईन मुस्कान साहू हैं।